Saturday, November 15, 2008

जिंदगी है प्याला ........ भाग १

जिंदगी है प्याला ,
तकदीर है शराब ,
जिसे जितनी मिल गयी , वो
उतना ही कामयाब ।


जिसका भरा है प्याला ,
बस वो ही है निराला ,
उसने भुलाया सबसे ,
पहले पिलाने वाला ,



वो समझा मैंने प्याले ,
में ख़ुद भरी शराब ।
ज़िन्दगी है प्याला........ ।

जिसका है प्याला खाली ,
दर - दर का वो सवाली ,
उस खाली पर भरा हर -
प्याला बजाता ताली ,


कहते ख़राब प्याला ,
नापे बिना शराब। ज़िन्दगी है प्याला........ ।

0 comments:

Post a Comment